सचिन तेंदुलकर के बाद शार्दुल ठाकुर ने आखिर क्यों पहनी जर्सी नंबर-10, राज से उठ गया पर्दा

भारत-श्रीलंका के बीच खेले गए चौथे वनडे मैच में शार्दुल ठाकुर को मौका दिया गया। इतना ही नहीं हार्दिक पांड्या के बावजूद शार्दुल से ही गेंदबाजी की शुरुआत करवाई गई। ये इस राइट आर्म मीडियम पेसर का डेब्यू मैच था, जिसमें शार्दुल जर्सी नंबर-10 पहनकर उतरे। ये वहीं नंबर की जर्सी है, जिसे कभी महानतम बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर पहना करते थे मगर उनके रिटायरमेंट के बाद इसे किसी भी भारतीय खिलाड़ी को नहीं दिया गया था।

ये जर्सी शार्दुल के लिए वाकई लकी भी साबित हुई। अपनी 10वीं गेंद पर ही उन्होंने श्रीलंका के सलामी बल्लेबाज निरोशन डिकवेला को विकेट के पीछे आउट करवा दिया। हालांकि पहले तो अंपायर ने अंगुली नहीं उठाई मगर डीआरएस के चलते उन्हें अपना फैसला बदलना पड़ा और शार्दुल को वनडे करियर का पहला विकेट मिला।

क्या है इस जर्सी के पीछे का राज : आपको बता दें कि जर्सी नंबर-10 के पीछे का राज ये है कि शार्दुल का जन्म 16 अक्टूबर 1991 को हुआ था। उनकी जन्मतिथि का टोटल 16+10+1991 = 10 है, जिसके चलते उन्होंने ये नंबर चुना। इतना ही नही बल्कि मुंबई के रहने वाले सचिन तेंदुलकर और शार्दुल ठाकुर दोनों के ही शॉर्ट फॉर्म ST हैं।

आंकड़ों पर एक नजर : गौरतलब है कि शार्दुल ने अपने पहले वनडे में 42 गेंदें फेंकी, जिसमें उन्होंने 3.71 की इकॉनमी से 1 शिकार भी किया। शार्दुल ने 30 टी20 मैच भी खेले हैं, जिसमें ये गेंदबाज 32 विकेट ले चुका है। वहीं भारत की ओर से 463 वनडे खेलने वाले तेंदुलकर ने इस फॉर्मेट में 86.23 की स्ट्राइक के साथ 18,426 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने 49 शतक समेत 96 अर्धशतक भी जमाए। वहीं बात अगर टेस्ट की करें तो 200 मैचों में इस खिलाड़ी ने 51 शतक और 68 अर्धशतक की मदद से 15,921 रन बनाए। टेस्ट क्रिकेट में सचिन 2 हजार से ज्यादा चौके लगाने वाले इकलौते खिलाड़ी हैं। उन्होंने टेस्ट मैचों में 2058 चौके जड़े हैं।

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Close