विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान के संबंध में अन्तर्विभागीय समीक्षा बैठक में संबंधित अधिकारियों को दिये कड़े दिशा-निर्देश · Indias News

विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान के संबंध में अन्तर्विभागीय समीक्षा बैठक में संबंधित अधिकारियों को दिये कड़े दिशा-निर्देश

जिलाधिकारी अखिलेश तिवारी की अध्यक्षता में संचारी रोग अभियान एवं दस्तक अभियान के द्वितीय चरण के संबंध में विभिन्न विभागों द्वारा की गयी कार्यवाही की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुयी. यह अभियान 01 जुलाई 2020 से 31 जुलाई 2020 तक संचालित किया जायेगा. जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि सभी विभाग समय से कार्ययोजना बनाकर प्रस्तुत करें तथा उसका अनुपालन सुनिश्चित करें. सभी ए0सी0एम0ओ0 को निर्देशित करते हुये कहा कि शासनादेश में उल्लिखित निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराया जाये तथा इसमें लापरवाही बरतने वालों पर कड़ी कार्यवाही की जायेगी. अभियान के संबंध में ग्राम प्रधानों का अभी तक संवेदीकरण न कराये जाने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुये तत्काल कराये जाने के निर्देश दिये. इसके साथ ही आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के प्रशिक्षण के लापरवाही पर जिला कार्यक्रम अधिकारी राजकपूर का स्पष्टीकरण तलब किया. शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि वाट्सअप ग्रुप बनाकर छात्रों एवं अभिभावकों को दिमागी बुखार के विषय में बताया जाये.
नगरीय क्षेत्रों में सड़कें क्षतिग्रस्त कराने के बाद उन्हें ठीक न कराने पर जल निगम के अधिकारियों को लगायी कड़ी फटकार बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने जल निगम के सहायक अभियन्ता अजय प्रभाकर को कड़ी फटकार लगाते हुये निर्देश दिये कि क्षतिग्रस्त की गयी समस्त सड़कों एवं गलियों को तत्काल दुरूस्त कराया जाये. उन्होंने कहा कि इनमें लापरवाही होने पर दुर्घटना हो सकती है. उन्होंने अधिशासी अधिकारी नगर पालिका सीतापुर को निर्देश दिये कि सभी गलियों की सूची तैयार करें जिन्हें जल निगम द्वारा क्षतिग्रस्त करने के बाद ठीक नही किया गया है और दोषियों के विरूद्ध एफ0आई0आर0 दर्ज करायें. उन्होंने कहा कि इसकी सूचना कार्यवाही की संस्तुति के साथ जल निगम के उच्चाधिकारियों को भी भेजी जायेगी.
नगरीय क्षेत्रों में नालों की नियमित सफाई कराये जाने हेतु दिये निर्देश  जिलाधिकारी ने सभी अधिशासी अधिकारियों को निर्देशित किया कि नगरीय क्षेत्रों में स्वच्छता के व्यापक प्रबंध किये जायें. नालों की नियमित रूप से सफाई करते हुये यह सुनिश्चित किया जाये कि कहीं पर जलभराव न हो. निचली भूमि या नम भूमि जहां पर पानी एकत्रित हो वहां तत्काल कीटनाशकों का छिड़काव नियमित रूप से कराया जाये. नाला गैंग तैयार रखा जाये तथा मशीनें दुरूस्त रखी जायें. रोड कटिंग जहां पर हो अथवा कोई गड्ढा हो उसे तत्काल ठीक कराया जाये जिससे कोई दुर्घटना न हो. पानी की आपूर्ति के दौरान यह सुनिश्चित किया जाये कि पेयजल स्वच्छ हो.  बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी संदीप कुमार, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 आलोक वर्मा, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक ए0के0 अग्रवाल, मुख्य चिकित्सा अधीक्षिका डा0 सुषमा कर्णवाल, क्षेत्राधिकारी सदर योगेन्द्र सिंह सहित चिकित्सा विभाग के सभी अधिकारी व सभी प्रभारी चिकित्सा अधिकारी उपस्थित रहे.

Check Also

रेमडेसिवीर का जेनरिक प्रारूप बनाने के लिए कंपनियों को लाइसेंस जारी करे सरकार : माकपा

नई दिल्ली (New Delhi). महामारी (Epidemic) कोरोना (Corona virus) संक्रमण के उपचार में उपयोगी दवा …