वरिष्‍ठ नागरिक को 5 लाख रुपए तक की बैंक ब्‍याज इनकम पर मिलेगी TDS से छूट-CBDT

वरिष्‍ठ नागरिक को 5 लाख रुपए तक की बैंक ब्‍याज इनकम पर मिलेगी TDS से छूट-CBDT

नई दिल्‍ली. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) वरिष्‍ठ नागरिक को बड़ी राहत दी है. एक अधिसूचना में सीबीडीटी ने कहा है कि सालाना 5 लाख रुपए तक की टैक्‍स योग्य इनकम वाले वरिष्ठ नागरिक अब बैंकों और डाकघरों में जमा राशि पर मिलने वाली ब्याज इनकम के स्रोत पर कर कटौती (TDS) से छूट के लिए फॉर्म 15H जमा करवा सकते हैं.

2019-20 के अंतरिम बजट में दी गई थी छूट

गौरतलब है कि इससे पहले स्रोत पर कर कटौती (टीडीएस) की यह सीमा ढाई लाख रुपए तक थी. सीबीडीटी ने फॉर्म 15H में संशोधन को लेकर अधिसूचना जारी कर दी है. दरअसल में यह संशोधन बजट में की गई घोषणा को अमल में लाने के लिए है.

गौरतलब है कि 2019-20 के अंतरिम बजट में पांच लाख रुपए तक की कर योग्य आय वाले व्यक्तिगत करदाताओं को कर से पूरी तरह छूट दी गई है. इसका लाभ 3 करोड़ मध्यम वर्ग के करदाताओं को मिलेगा.

वरिष्ठ नागरिकों शुरुआत में ही फार्म देना होता है 15H 

बता दें कि सीबीडीटी (CBDT) के संशोधन में कहा गया है कि आयकर कानून 1961 की धारा 87A के तहत दी गई छूट को ध्यान में रखते हुए जिन करदाताओं की कर देनदारी शून्य है. बैंक और वित्तीय संस्थान अब ऐसे करदाताओं से फॉर्म 15H स्वीकार कर सकते हैं. 60 साल से ऊपर आयु के वरिष्ठ नागरिकों को फाइनेंशिय ईयर  की शुरुआत में ही फार्म 15H भरकर देना होता है, ताकि यह   सुनिश्चित किया जा सके कि उनकी ब्याज आय पर कोई कर कटौती नहीं की जा सके.

5 लाख तक की इनकम वाले टैक्‍स देनदारी से मुक्त 

गौरतलब है कि फाइनेंशियल ईयर 2019-20 के अंतरिम बजट में 5 लाख रुपए सालाना इनकम वालों को आयकर की धारा 87A के तहत कर छूट को 2,500 रुपए से बढ़ाकर 12,500 रुपए कर दिया था. इसमें 5 लाख रुपए तक की टैक्‍स योग्य इनकम वाले कर देनदारी से मुक्त हो गए.

https://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*