यूरोप में हमले की फिराक में इस्लामिक स्टेट

नई दिल्ली/लंदन, 14 अप्रैल (उदयपुर किरण). आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट पूरे यूरोप में जानलेवा हमले करने की योजना बना रहा है. चार साल पहले फ्रांस की राजधानी पैरिस के एक कन्सर्ट हॉल में किया गया हमला भी इसी कड़ी में शामिल था, जिसमें 130 लोग मारे गए थे. ब्रिटेन के समाचार पत्र ‘द संडे टाइम्स’ के अनुसार दस्तावेज़ों से पता चलता है कि आईएसआईएस सरगना यूरोप और मध्य पूर्व में आतंकवादी हमलों की योजना को वित्तपोषित और नियंत्रित कर रहे हैं.

वह नवंबर 2015 के पैरिस जैसे हमले को दोहराने की योजना बना रहे हैं. दस्तावेजों में इस बात की जानकारी दी गई है कि सीरिया में अपनी तथाकथित खिलाफत खत्म होने के बावजूद आईएस अत्याधुनिक अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क चलाने, बैंक डकैती, वाहनों पर हमले, हत्या और कंप्यूटर हैकिंग की योजना बना रहा है. आईएस के छह नेताओं के हस्ताक्षर वाले एक पत्र में समूह के ‘खलीफा’ अबू बकर-अल-बगदादी को संबोधित किया गया है. पत्र में कहा गया है कि आईएस ने विदेश में अपनी रणनीति को संचालन और सीमाओं के आधार पर दो भागों में बांट दिया है. दस्तावेजों के अनुसार विदेशों में आतंकी अभियानों की जिम्मेदरी अबु खबाब अल मुहाजिर को दी गई है. उसको रूस, जर्मनी और पूर्वोत्तर सीरिया में आंतकी अभियान चलाने की जिम्मेदारी दी गई है.

दस्तावेजों में 2015 के पेरिस नरसंहार और 2017 के ‘मैनहट्टन हमले’ का जिक्र है. नवंबर 2015 में पेरिस और शहर के उत्तरी उपनगर सेंट-डेनिस में सिलसिलेवार तरीके से समन्वित आतंकी हमले किये गए थे. उन हमलों में एक फुटबॉल मैच के दौरान स्टेड डी फ्रांस स्टेडियम के बाहर तीन आत्मघाती हमलावरों ने गोलीबारी की, जिसके बाद गोलीबारी की कई घटनाएं हुईं और रेस्तरां में आत्मघाती बम विस्फोट किया गया. इस दौरान बाटाकलन कन्सर्ट हॉल में कुल 130 लोग मारे गए थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*