मुंबई, चेन्नई व गुजरात की बंदरगाहों पर 1 हजार टन पाकिस्तानी छुआरा जब्त

अमृतसर.डी.आर.आई. (डायरैक्टोरेट ऑफ रैवेन्यू इंटैलीजैंस) की टीम ने मुंबई के नवाशिवा बंदरगाह के साथ चेन्नई व गुजरात की बंदरगाह पर 1 हजार टन पाकिस्तानी छुआरा जब्त कर मुंबई के 4 व्यापारियों शेवक मखीजा, मोहनदास कटारिया, इमरान तेली व इरफान को गिरफ्तार किया है. विभागीय सूत्रों ने बताया है कि भारतीय व्यापारियों ने छुआरे की इस खेप को अरब देश ओमान से भारत में आयात किया था. सरकार को चकमा देने के लिए पाकिस्तानी छुआरे को ओमान की पैदावार बताकर आयात किया था, लेकिन असलियत में यह आयात नहीं बल्कि पाकिस्तानी छुआरे की तस्करी थी जिसको डी.आर.आई. ने ट्रेस कर लिया.
पाकिस्तानी छुआरे की बात करें तो पता चलता है कि आई.सी.पी. अटारी बार्डर पर 16 फरवरी से पहले पाकिस्तान से सैंकड़ों टन पाकिस्तानी छुआरा आयात किया जाता था, लेकिन भारत सरकार की तरफ से 200 प्रतिशत ड्यूटी लगाए जाने के बाद इसका आयात बिल्कुल ही बंद हो गया. आज पाकिस्तानी छुआरे के ट्रक पर 32 लाख रुपए ड्यूटी बनती है, जो पहले 3 से 4 लाख रुपए होती थी. मुंबई, चेन्नई व गुजरात की बंदरगाहों पर पाकिस्तानी छुआरा जब्त करने के बाद डी.आर.आई. व कस्टम विभाग कलकत्ता बंदरगाह व नेपाल बार्डर पर भी पैनी नजर रखे हुए है क्योंकि पाकिस्तानी व्यापारी इन बंदरगाहों के रास्ते भी पाकिस्तानी छुआरे की तस्करी कर सकते हैं.
भारत-पाक व्यापारिक रिश्ते खत्म होने के बाद पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था बुरी तरह से गिर चुकी है इसका बड़ा सबूत और क्या हो सकता है कि पाकिस्तान में इस समय 1100 करोड़ रुपए की कीमत का पाकिस्तानी छुआरा डंप पड़ा है, जिसको खरीदने के लिए कोई भी देश तैयार नहीं है. पाकिस्तान के सक्खर नामक जिले में छुआरे की पैदावार भारी मात्रा में होती है और पाकिस्तानी व्यापारी इस डंप पड़े छुआरे को किसी न किसी तरीके से भारत में भेजना चाहते हैं लेकिन उनके इरादों को डी.आर.आई. व कस्टम की टीम नाकाम कर रही है. पाकिस्तान भारत को एक्सपोर्ट होने वाले ड्राईफ्रूट की आड़ में कोई प्रतिबंधित वस्तु की तस्करी न कर दे इसके लिए कस्टम विभाग की टीम आई.सी.पी. अटारी बार्डर पर पाकिस्तान के रास्ते आने वाले अफगानिस्तान के ड्राईफ्रूट पर पैनी नजर रखे हुए है. अफगानी सेब की पेटियों में ही कस्टम विभाग की टीम ने 33 किलो सोना जब्त किया था.

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News