बिना काम कर दिया 25 लाख का भुगतान

झुंझुनू,17 मार्च (उदयपुर किरण). पंचायत समिति बुहाना में हाई मास्क लाईट लगाने में धांधली सामने सामने आई है. अधिकारियों ने लाईट लगाए बिना ही ठेकेदार पर मेहरबानी करते हुए काम की पूरी राशि 25 लाख का भुगतान कर दिया. इसका खुलासा पंचायत समिति सदस्यों ने किया है. उन्होंने संभागीय आयुक्त व जिला कलेक्टर को शिकायत पत्र भेजकर मामले की एसीबी से जांच करा दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. मामला सामने आने के बाद पंचायत समिति के अधिकारी पूरे मामले को छिपा रहे हैं.

पंचायत समिति सदस्य सुरेंद्र सिंह, कुलदीप ढाका, राजपालसिंह तंवर, प्रधान कविता यादव ने बताया कि बीडीओ विनोद कुमार ने बिना निविदा व ग्रामीण विकास की बैठक रजिस्टर में काट–छाट कर नब्बे लाख रुपयों की स्वीकृतियों का इंद्राज कर फर्जी तरीके से स्वीकृतियां जारी कर दी गई. जिनमें से बुहाना में पांच हाई मास्क लाईट लगाने के लिए 27 फरवरी को 25 लाख रुपए का भुगतान कर दिया गया. पंचायत समिति सदस्यों का आरोप है कि बीडीओ ने ठेकेदार से सांठ-गांठ कर पांच लाख की एक लाइट के हिसाब से पूरा भुगतान कर दिया गया. जबकि धरातल पर काम काम हुआ ही नही है. इधर प्रधान कविता यादव के दखल देने के बाद 11 पंचायतों को 65 लाख रुपयों का निर्माण कार्य की स्वीकृतियां निरस्त कर दी गई है. एक लाख से अधिक के काम पर टेंडर का नियम के अनुसार पंचायत समिति को एक लाख रुपये से अधिक राशि के किसी भी तरह के काम के लिए पहले टेंडर जारी करना चाहिए. सिलेक्ट की गई एजेंसी से काम कराने के बाद भुगतान करना चाहिए. लेकिन जिम्मेदार अधिकारियों ने इस नियम को ही दरकिनार कर ठेकेदार को भुगतान कर दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*