पेरिस करार में लौट सकते हैं बाइडेन

न्यूयॉर्क . अमेरिका के चुने गए राष्ट्रपति जो बाइडेन 20 जनवरी को राष्ट्रपति कार्यालय व्हाइट हाउस संभालने जा रहे हैं. उनके प्रशासन को विरासत में मुसीबतों का पिटारा भी मिल रहा है. इसीलिए उन्होंने पहले 10 दिन में ही ट्रम्प युग के विवादित फैसलों को पलटकर नया अमेरिका खड़ा करने के लिए कई प्रस्तावों को हरी झंडी देने की तैयारी में है.

व्हाइट हाउस के नए चीफ ऑफ स्टाफ रोन क्लीन ने कहा कि बाइडेन कार्यकाल के पहले दिन 4 चुनौतियों- कोरोना, आर्थिक संकट, पर्यावरण और नस्लीय असमानता से निपटने के लिए एक दर्जन प्रस्तावों पर हस्ताक्षर करेंगे. इनमें अमेरिका को पेरिस समझौते में लाना, 7 मुस्लिम देशों पर लगे यात्रा प्रतिबंध रद्द करना शामिल है. दोनों आदेश राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने पारित किए थे, जो ट्रम्प कार्ड कहे जाते हैं. बाइडेन के सलाहकारों को उम्मीद है कि वे फैसले में प्रतिनिधि सभा का इंतजार नहीं करेंगे.

Check Also

कोरोना से ठीक होने के बाद भी नहीं टलता मौत का खतरा

वाशिंगटन . कोरोना से ठीक हो चुके लोगों में अगले छह महीनों तक मौत का …