पेयजल संकट गहराने पर जलदाय विभाग पर सांकेतिक धरना

कोटा, 13 अगस्त (उदयपुर किरण). लाडपुरा विधानसभा क्षेत्र के छावनी, कोटडी, गोरधनपुरा इलाके में पेयजल समस्या गरमाने पर मंगलवार को लाडपुरा विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक भवानी सिंह राजावत के नेतृत्व में दादाबाड़ी जलदाय विभाग पर सांकेतिक धरना दिया गया. प्रदर्शन के दौरान पूर्व विधायक भवानी सिंह राजावत ने मंत्री धारीवाल से जलदाय विभाग के नाकारा अधिकारियों को सस्पेंड करने की मांग की.

जलदाय विभाग के लाख प्रयासों के बावजूद लाडपुरा विधानसभा क्षेत्र के कोटड़ी, गोरधनपुरा, छावनी इलाके में पानी की सप्लाई में सुधार नहीं हुआ. जिसके चलते रहवासी पीने के पानी तक को तरस रहे हैं. पानी की समस्या को लेकर लोगों ने जलदाय विभाग को पूर्व में ज्ञापन सौंपा, नेशनल हाईवे पर जाम लगाया और जलदाय विभाग पर मटकी फोड़ कर प्रदर्शन किया. इसके बावजूद जलदाय विभाग के अधिकारी लोगों की पानी की समस्या को सुलझाने में नाकाम रहे. इसके विरोध में लाडपुरा विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक भवानी सिंह राजावत ने हजारों की संख्या में दादाबाड़ी जलदाय विभाग पर पहुंचकर सांकेतिक धरना दिया. आक्रोशित महिलाओं ने जलदाय विभाग पर मटकिया फोड़ कर अपना आक्रोश व्यक्त किया. प्रदर्शनकारियों ने जलदाय विभाग के अधिकारियों और कांग्रेस सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की.

पूर्व विधायक भवानी सिंह राजावत ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आजादी के 75 साल मैं पानी को लेकर ऐसी समस्या कभी नहीं बनी. कोटडी, छावनी, गुमानपुरा इलाके जहां 24 घंटे पानी की सप्लाई होती थी वहां कांग्रेस शासन में क्षेत्र की जनता बूंद-बूंद पानी के लिए तरस रही है. जिसे हरगिज बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

कोटडी, छावनी, रामचंद्रपुरा, गोरधनपुरा में पिछले 2 महीने से पानी की समस्या बनी हुई है. अधिकारियों की लापरवाही से जल वितरण व्यवस्था बिगड़ने से पाइप लाइने सूखी पड़ी हुई है. जनता लगातार जलदाय विभाग पर जाकर अपनी समस्याओं को लेकर ज्ञापन दे रही है. जिम्मेदार अधिकारी अकेलगढ़ में मोटर खराब होने के नाम पर झूठे आश्वासन देकर उल्टे पांव लौट आ रही है. अकेलगढ़ में लगी मोटर काफी पुरानी हो चुकी है इन्हें बदलने की जगह अधिकारी इन्हें सुधरने की बात करते हैं. ऐसे लापरवाह अधिकारी जो मानवीय संवेदनाओं को समझ नहीं सकते उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए.

भवानी सिंह राजावत ने मंत्री शांति धारीवाल से मांग करते हुए कहा कि उनकी जिम्मेदारी मात्र कोटा उत्तर विधानसभा क्षेत्र के निवासियों के लिए ही नहीं अपितु मंत्री होने के नाते उनकी जिम्मेदारी पूरा कोटा शहर की है. ऐसे में जलदाय विभाग के लापरवाह अधिकारियों को तुरंत प्रभाव से बर्खास्त कर देना चाहिए जो जनता की भावनाओं से खिलवाड़ करें. भवानी सिंह राजावत ने जलदाय विभाग के अधिकारियों को 24 घंटे की मोहलत देते हुए कहा कि यदि 24 घंटे में जल वितरण व्यवस्था में सुधार नहीं हुआ तो क्षेत्र की जनता उनके घर के कनेक्शन काट देगी. यह मात्र सांकेतिक धरना है जिसमें अपनी समस्याओं को लेकर हजारों की संख्या में लोग जलदाय विभाग पर प्रदर्शन करने आए हैं. यदि लोगों का आक्रोश बढ़ गया तो अधिकारियों को ऑफिस में बैठने तक नहीं दिया जाएगा. जिसकी समस्त जिम्मेदारी प्रशासन की और सरकार की होगी.

 

 

Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News Today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News