निवेश के लिए अनुकूल माहौल तैयार करेगी सरकार : मुख्यमंत्री

निवेश के लिए अनुकूल माहौल तैयार करेगी सरकार : मुख्यमंत्री

जयपुर, 12 जून (उदयपुर किरण). राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि राज्य सरकार औद्योगिक निवेश के लिए प्रदेश में अनुकूल माहौल तैयार करेगी. मात्र छह माह में ही ऐसे कदम उठाए गए हैं, जिससे निवेश को प्रोत्साहन मिलेगा और राजस्थान इन्वेस्टर फ्रेंडली स्टेट बनेगा. सरकार की इस पहल से युवाओं की चिंता दूर होगी और रोजगार के बड़े अवसर उपलब्ध होंगे.

मुख्यमंत्री बुधवार को मुख्यमंत्री कार्यालय के कांन्फ्रेंस हॉल में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम (एमएसएमई) वेबपोर्टल के शुभारम्भ के अवसर पर बोल रहे थे. मुख्यमंत्री ने सरकार उद्यमों की स्थापना में आ रही बाधाएं दूर करने के लिए कटिबद्ध है. इसके लिए मार्च में लाया गया सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम (फैसिलिटेशन ऑफ एस्टेब्लिशमेंट एंड ऑपरेशन) अध्यादेश और एमएसएमई वेब पोर्टल इसी दिशा में क्रांतिकारी कदम हैं. राजस्थान देश का पहला ऐसा राज्य है, जिसने सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग स्थापित करने के लिए ऐसा अध्यादेश लागू किया है. अब राज्य में उद्यम लगाने के लिए एमएसएमई उद्यमियों को तीन वर्ष तक किसी प्रकार की स्वीकृति की आवश्यकता नहीं होगी. इस वेबपोर्टल पर स्वघोषणा प्रपत्र भरकर ही उद्यमी अपना उद्यम शुरू कर सकेंगे. उन्हें किसी भी सरकारी दफ्तर के चक्कर नहीं काटने पडे़ंगे. साथ ही हर तरह के सरकारी हस्तक्षेप से मुक्ति मिलेगी. आने वाले विधानसभा सत्र में ही इस अध्यादेश को कानून का रूप दिया जाएगा. सरकार जल्द ही नई उद्योग नीति लाएगी. नेशनल एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल की तर्ज पर प्रदेश में एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल बनाई जाएगी और सिंगल विंडो सिस्टम को प्रभावी बनाया जाएगा. राजस्थान इंडस्ट्रियल प्रमोशन स्कीम (रिप्स) को भी हम और अधिक इन्वेस्टर फ्रेंडली बनाएंगे.

इसके साथ मुख्यमंत्री ने वेब पोर्टल पर सेल्फ डिक्लरेशन प्रपत्र भरने वाले उद्यमियों को ‘प्राप्ति का प्रमाण पत्र’ प्रदान किया.

उद्योग मंत्री परसादीलाल मीणा ने कहा कि इस अध्यादेश से प्रदेश में उद्योगों की स्थापना को गति मिलेगी. निवेश के अनुकूल माहौल बनेगा और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे.

मुख्य सचिव डीबी गुप्ता ने अध्यादेश एवं वेबपोर्टल के बारे में विस्तार जानकारी दी. उन्होंने बताया कि इसके प्रभावी होने से उद्यमियों की परेशानियां दूर होंगी.

उद्योग विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव सुबोध अग्रवाल ने एमएसएमई सेक्टर के महत्व और वेबपोर्टल के बारे में प्रजेंटेशन दिया.

इस अवसर पर नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल, वन एवं पर्यावरण राज्य मंत्री सुखराम विश्नोई, उद्योग राज्यमंत्री अर्जुन बामनिया समेत कई प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे.

हिन्दुस्थान समाचार/संदीप/चंद्र/पी.के.

Submitted By: Sandeep Mathur Edited By: Chandra Prakash Singh Published By: Pawan Kumar Srivastava at Jun 12 2019 4:29PM

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*