नवरात्र के अन्तिम दिन श्रद्धालुओं ने महागौरी, सिद्धिदात्री के दरबार में टेका मत्था

वाराणसी, 13 अप्रैल (उदयपुर किरण). चैत्र नवरात्र के अन्तिम दिन शनिवार को श्रद्धालुओं का दिन मां के गौरी और शक्तिस्वरूपों का दर्शन पूजन करते बीता. आठ दिन के नवरात्र के चलते अष्टमी और नवमी का एक दिन ही मान होने के कारण श्रद्धालुओं ने मां के गौरी स्वरूप पंचगंगा घाट स्थित मंगला गौरी, अन्नपूर्णा दरबार स्थित महागौरी के साथ भगवती दुर्गा के नवम स्वरूप गोलघर स्थित मां सिद्धिदात्री, लक्ष्मीकुंड स्थित महालक्ष्मी का दर्शन पूजन किया.

मां के चारों स्वरूपों के दर्शन पूजन के लिए श्रद्धालु आधी रात के बाद अपने घर में नवमी और कलश पूजन के बाद निकल पड़े. मान्यता के अनुसार अन्तिम दिन महालक्ष्मी के पूजन-अर्चन से भौतिक सुख-समृद्धि और ऐश्वर्य आदि की प्राप्ति होती है. वहीं, गोलघर स्थित सिद्धिदात्री देवी के दर्शन से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है. भगवती दुर्गा के नवम स्वरूप मां सिद्धिदात्री, जो अष्ठ सिद्धियां-अणिमा, महिमा, गरिमा, लघिमा, प्राप्ति, सौम्य, वारीत्व और ईशत्व की प्रदाता है. देवी की पूजा-अर्चना से सभी सिद्धियां फलीभूत होती हैं. देवी का ध्यान मंत्र है- ”सिद्ध गन्धर्व यज्ञद्यैर सुरैर मरैरपि. सेव्यमाना सदा भूयात्‌ सिद्धिदा सिद्धि दायिनी..”

कन्या पूजन से नवरात्र व्रत का समापन

चैत्र नवरात्र के अन्तिम दिन नौ दिनों तक व्रत रखने वाले श्रद्धालुओं ने कन्या पूजन के बाद व्रत का समापन किया. व्रत का पारण रविवार को होगा. इसके पूर्व लोगों ने विधि विधान से घर और मंदिरों में हवन पूजन के बाद कुंवारी कन्याओं और बालकों को बाल भैरव मान कर उनका पांव पखारा. इसके बाद उन्हें विशिष्ट पकवान खिलाकर दक्षिणा देकर उनसे आशीर्वाद लिया. इस क्रम में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेन्द्र पांडेय ने दशाश्वमेध स्थित देव गुरु बृहस्पति मंदिर परिसर में कुंवारी कन्याओं का पांव पखारने के बाद उनका पूजन किया और प्रेम से पकवान भी खिलाया. लक्सा रामकुंड स्थित दैत्रावीर बाबा मंदिर के पास स्थित माता वैष्णो देवी मंदिर प्रांगण में माता रूपी कन्याओं का भक्तों ने पांव पखार पूजन किया. साथ ही कन्याओं को अपनी तरफ से उपहार देकर आशीर्वाद लिया.


https://udaipurkiran.in/hindi

नवरात्र के अन्तिम दिन श्रद्धालुओं ने महागौरी, सिद्धिदात्री के दरबार में टेका मत्था DAINIK PUKAR. Dainik Pukar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*