जोधपुर एम्स में कटे हुए हाथ को 10 घंटे के ऑपरेशन के बाद फिर से जोड़ा

5 जनवरी को फैक्ट्री में काम के दौरान कट कर शरीर से अलग हो गया था दांया हाथ

जोधपुर (Jodhpur) . राजस्थान (Rajasthan)के जोधपुर (Jodhpur) स्थित एम्स के डॉक्टरों (Doctors) की एक टीम ने पूर्ण रूप से कटे हुए हाथ को जोड़ दिया है. हाथ को जोड़ने के लिए ऑपरेशन करने में 10 घंटे का समय लगा. हाथ जुड़ने के बाद मरीज पूरे तरीके से स्वस्थ है. उसका इलाज अभी एम्स में चल रहा है. अनुभवी चिकित्सकों की दो टीमों ने 10 घंटे के जटिल ऑपरेशन को पूरा किया है.

जानकारी के मुताबिक, मरीज का नाम इम्तियाज है. 5 जनवरी को फैक्ट्री में काम के दौरान उसके दायें हाथ पर मशीन गिर गयी, जिससे दांया हाथ कलाई तक कट कर शरीर से अलग हो गया. साथियों ने उसे कटे हुए हाथ के साथ एम्स के आपातकालीन विभाग में भर्ती कराया. आपातकाल इकाई में ही प्लास्टिक सर्जरी विभाग ने दो टीम बनाकर दोनों हिस्सों की साफ सफाई एवं महत्वपूर्ण हिस्सों की पहचान की. इसके बाद आर्थोपेडिक सर्जन द्वारा हड्डी को जोड़ा गया. हड्डी फिक्स होने के बाद प्लास्टिक सर्जरी शुरू की गयी. यह ऑपरेशन करीब 10 घण्टे चला.

चिकित्सकों ने बताया कि सबसे पहले खून की नसों को आपस में पुनः जोड़ा गया. इसके बाद बाकी महत्वपूर्ण हिस्सों जैसे नर्व, टेन्डन इत्यादि को जोड़ा गया. संपूर्ण प्रक्रिया के बाद चिकित्सकों की एक दल द्वारा मरीज को ऑब्जर्वेशन में रखा गया और उसके हाथ की संपूर्ण गतिविधियों पर नजर रखी गई. चिकित्सकों का कहना है कि भविष्य में मरीज का हाथ सामान्य तरह से काम कर पाएगा. विभिन्न विशेषज्ञों से जुड़ी इस टीम में प्लास्टिक सर्जरी टीम में डॉ प्रकाश चन्द्र काला, डॉ पवन दीक्षित, डॉ दीप्ती, डॉ अनिकेत, डॉ सौरभ, डॉ सुरेश शामिल थे.

Check Also

महाराष्ट्र के गृहमंत्री का आरोप, अर्नब को बालाकोट, पुलवामा जैसी गोपनीय बातें कैसे पता चलीं?

मुंबई (Mumbai) . रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी की कथित व्हाट्सएप चैट्स …