छत्तीसगढ़:पेट दर्द का इलाज कराने गए युवक की करदी नसबंदी, सरकार देगी हर्जाना

रायपुर.छत्तीसगढ़ के सरकारी अस्पताल में पेट दर्द का इलाज कराने गए अविवाहित युवक की नसबंदी करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. युवक की सहमति के बगैर डॉक्टरों ने उसकी नसबंदी कर दी. इतना ही नहीं उसे बाकायदा 1100 रुपए और प्रमाण पत्र भी दिए गए. बता दें कि युवक पढ़ा-लिखा नहीं है. ऐसे में अनपढ़ युवक 1100 रुपए और प्रमाण पत्र लेकर सीधा अपने गांव चला आया. इसके बाद दूसरे ग्रामीणों ने उसका प्रमाण पत्र देखने के बाद उसे नसबंदी होने की जानकारी दी. इसके बाद युवक ने थाने पहुंचकर एफआईआर दर्ज करवाई.
तहसीलदार की रिपोर्ट के आधार पर एसडीएम ने दोषी डॉक्टरों और अन्य कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की बात कही थी. युवक की याचिका पर दिए गए फैसले में जस्टिस गौतम भादुरी की बेंच ने राज्य सरकार को क्षतिपूर्ति के रूप में 2 लाख 50 हजार रुपए देने का निर्देश दिया है.
युवक ने वर्ष 2013 में हाईकोर्ट में याचिका लगाई थी. अब मामले की सुनवाई के बाद जस्टिस गौतम भादुरी की बेंच ने बगैर सहमति के अविवाहित युवक की नसबंदी को बलपूर्वक नसबंदी करने और डॉक्टरी लापरवाही का प्रकरण माना है. हाईकोर्ट ने राज्य शासन को पीड़ित युवक को क्षतिपूर्ति के रूप में 2 लाख 50 हजार रुपए का भुगतान करने के निर्देश दिए हैं. राज्य सरकार को यह राशि जिम्मेदार अधिकारियों से वसूलने की छूट दी गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*