केजरीवाल की अंतरिम जमानत पर आतिशी ने कहा, सुप्रीम कोर्ट ने लोकतंत्र को बचाया

Photo of author

दिल्ली, 10 मई . दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल को मिली अंतरिम जमानत पर ‘आप’ नेता आतिशी ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने लोकतंत्र को बचाया है.

जब आतिशी से सवाल किया गया कि क्या आपको लगता है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को मिली अंतरिम जमानत से बीजेपी को मुश्किलें बढ़ेंगी, तो इस पर उन्होंने मुस्कुराते हुए कहा, “आज की तारीख में दिल्ली की जनता खुद ‘आम आदमी पार्टी’ को चुनाव जिताने के लिए मेहनत कर रही है. इससे लोगों में उम्मीद बढ़ेगी, एक हौसला बढ़ेगा, लोगों में यह विश्वास जगेगा कि इस देश का लोकतंत्र कायम है. इस देश में संविधान कायम है और तानाशाही का अंत होगा.“

इस बीच, आतिशी से जब यह पूछा गया कि आज तक किसी राजनेता को चुनाव प्रचार के लिए जमानत नहीं मिली है, तो इस पर उन्होंने कहा, “आज तक ऐसा कभी नहीं हुआ है कि चुनाव की घोषणा के बाद किसी सीटिंग मुख्यमंत्री और विपक्ष के मुख्य चेहरे को गिरफ्तार किया गया हो. अरविंद केजरीवाल एक पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक हैं. चुनाव की घोषणा के बाद उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेजना तानाशाही की निशानी है. पहले ऐसी स्थिति पाकिस्तान, बांग्लादेश, सूडान जैसे देशों में देखने को मिलती थी कि चुनाव की घोषणा के बाद तानाशाह ने विपक्ष के सभी नेता को जेल भेज दिया.“

उन्होंने आगे कहा, “सुप्रीम कोर्ट ने हमारे देश के लोकतंत्र और संविधान को बचाया है, जिसका मैं धन्यवाद करती हूं.“

बता दें कि राजधानी दिल्ली में छठे चरण में 25 मई को वोट डाले जाएंगे.

गत 21 मार्च को सीएम केजरीवाल को ‘दिल्ली आबकारी नीति घोटाला’ मामले में गिरफ्तार किया गया था. उनकी गिरफ्तारी को ‘आम आदमी पार्टी’ ने बीजेपी की साजिश बताया था.

एसएचके/