कटारिया और महापौर के दबाव में बंदूकबाज नेता को बचाने का आरोप

उदयपुर, 13 मई (उदयपुर किरण). एक शादी समारोह में म्यूजिक लगाने वाले के साथ भाजपा पदाधिकारी द्वारा मारपीट का मामला तूल पकडऩे लगा है. मारपीट के बाद पुलिस द्वारा महज 151 की धारा लगाने को लेकर समाज आक्रोशित है. पीडि़त ब्राह्मण समाज का है. समाज का आरोप है कि पूर्व गृहमंत्री और वर्तमान में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया और महापौर चंद्रसिंह कोठारी के दबाव में पुलिस ने इस मामले में आरोपितों को बचाने का काम किया है जबकि आरोपित ने धमकी दी थी कि उसके पास लाइसेंसी रिवॉल्वर है और वह गुलाबचंद कटारिया का खास आदमी है, कोई उसका कुछ नहीं कर सकता.

पीडि़त को न्याय दिलाने के लिए विप्र फाउण्डेशन से जुड़े पदाधिकारियों और युवाओं ने सोमवार को जिला कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया और जिला कलक्टर व एसपी के नाम ज्ञापन सौंपकर न्यायसंगत कार्रवाई की मांग की. ज्ञापन में कहा गया है कि अरोपित सुशील जैन जो कि भाजपा का पदाधिकारी है उस सहित लोकेश जैन और रुचिर जैन ने म्यूजिक लगाने वाले मदनलाल मेनारिया पर जानलेवा हमला किया जिससे उसकी आंख के ऊपर गंभीर चोट लगी है. मामला इतना था कि साढ़े दस बज जाने के बाद मदनलाल ने नियमानुसार म्यूजिक सिस्टम बंद करने के लिए कहा था, लेकिन आरोपितों ने धौंस जमाते हुए उसे म्यूजिक चालू रखने का दबाव बनाया और कहा कि वे कटारिया के खास आदमी हैं और पुलिस उनका कुछ नहीं कर सकती.

विप्र फाउण्डेशन ने सुशील जैन को प्रदत्त शस्त्र लाइसेंस तुरंत निरस्त करने और उसे गिरफ्तार कर सही धाराओं में केस लगाने की मांग की है. ज्ञापन देने वालों में विप्र फाउण्डेशन जोन-ए के प्रदेशाध्यक्ष के.के.शर्मा, वीसीसीआई मेवाड़ जिलाध्यक्ष कृष्णकांत शर्मा, विप्र फाउण्डेशन युवा के प्रदेश महामंत्री नरेन्द्र पालीवाल, विप्र फाउण्डेशन के जिलाध्यक्ष हिम्मतलाल नागदा सहित कई समाजजन शामिल थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*