आलू को भूल से भी फ्रिज में न रखें, कैंसर का खतरा · Indias News

आलू को भूल से भी फ्रिज में न रखें, कैंसर का खतरा


खाने-पीने की चीजों को लंबे समय तक सुरक्षित रखने के लिए हम उन्हें फ्रिज में रख देते हैं. वहीं खाने-पीने की ऐसी कई चीजें है जिन्हें आपको भूल से भी फ्रिज में नहीं रखना चाहिए. उन्हीं में से एक है आलू, आखिर क्यों आलू को फ्रिज में नहीं रखना चाहिए
जब आप आलू को फ्रिज में रखते हैं तो फ्रिज का ठंडा तापमान आलू में मौजूद स्टार्च को शुगर में बदल देता है. यह शुगर आगे फिर रिऐक्ट होती है और एक खतरनाक केमिकल में तब्दील हो जाती है जिससे कई तरह का कैंसर होने का खतरा रहता है.
क्या कहती है फूड स्टैंडर्ड एजेंसी
फूड स्टैंडर्ड एजेंसी द्वारा करवाई गई एक स्टडी के मुताबिक फ्रिज में रखे आलू को जब बेक या फ्राई किया जाता है तो आलू में मौजूद शुगर कन्टेंट आलू में मौजूद एमिनो ऐसिड ऐस्परैगिन के साथ मिल जाता है. ऐक्राईलामाइड नाम का केमिकल उत्पन्न होने लगता है.
खाद्य पदार्थ जिनमें स्टार्च पाया जाता है, जब वे फ्राइंग, रोस्टिंग या बेकिंग के जरिए उच्च तापमान के संपर्क में आते हैं तब उनमें ऐक्राईलामाइड नाम का केमिकल पाया जाता है. इस केमिकल का इस्तेमाल पेपर बनाने, प्लास्टिक बनाने और यहां तक की कपड़ों को डाई करने में भी होता है.
पहली बार साल 2002 में ऐक्राईलामाइड के बारे में पता चला था और तब से लेकर अब तक कई अध्यान हो गये हैं जिनमें यह बात निकलकर आयी है कि वैसे लोग जो उच्च तापमान पर पके स्टार्च वाले खाद्य पदार्थ का सेवन करते हैं उनमें अलग-अलग तरह के कैंसर होने का खतरा भी अधिक होता है.
आलू को फ्रिज में भूल से भी न रखें बल्कि आलू को सामान्य रूम टेंपरेचर पर किसी सूखी जगह पर रखना चाहिए. साथ ही आलू को बहुत ज्यादा उच्च तापमान पर पकाने से भी बचना चाहिए.
आलू को पकाने से पहले उसे छीलकर 15 से 30 मिनट के लिए पानी में भिगोकर रख देना चाहिए. ऐसा करने से आलू को पकाने के दौरान उसमें ऐक्राईलामाइड केमिकल बनने की आशंका कम हो जाती है.

Check Also

छह माह से छोटे बच्चे को शहद देना ठीक नहीं

आमतौर पर घरों में छोटे बच्चों के बीमार होने पर घरेलू नुस्खे अपनाये जाते हैं. …