आठ दिन पूर्व लापता चालक का चारभुजा घाटे में मिला शव

चित्तौडग़ढ़, 16 मार्च (उदयपुर किरण). जिले के रावतभाटा थाना क्षेत्र के चारभुजा के घाटे में शनिवार को लापता चालक का शव पड़ा मिला. शव पुराना होकर काला पड़ गया था. मामले की जानकारी मिलने पर रावतभाटा थाना पुलिस मौके पर पहुंची है. पुलिस ने एफएसएल टीम को मौके पर बुलाया व साक्ष्य जुटाएं हैं. शव का मौके पर ही पोस्टमार्टम कराया है. रावतभाटा डिप्टी ने भी मौका देखा व उच्च अधिकारियों मामले की जानकारी दी है. हत्या की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता. यह व्यक्ति करीब आठ दिन से लापता चल रहा था.

रावतभाटा पुलिस उप अधीक्षक रामेश्वर प्रसाद ने बताया कि शनिवार सुबह सूचना मिली थी कि रावतभाटा के निकट चारभुजा घाटे के जंगल में एक व्यक्ति का शव पड़ा हुआ है. इस सूचना पर रावतभाटा थाना पुलिस मौके पर पहुंची. यहां जंगल में सांईबाबा मंदिर के पीछे की तरफ एक व्यक्ति का शव पड़ा हुआ था. शव पुराना होकर काला पड़ गया बदबू मारने लगा था. पुलिस ने इसकी पहचान मोहनपुरा हाल चन्द्रपुरिया निवासी राधेश्याम मेघवाल के रूप में की. पुलिस जांच में सामने आया कि राधेश्याम करीब आठ मार्च से लापता होकर इसकी गुमशुदगी भी रावतभाटा थाने में दर्ज कराई गई थी. इसके बाद से ही पुलिस एवं परिजन इसकी तलाश में जुटी हुई है. जानकारी में सामने आया कि परिजन इसकी तलाश में जुटे हुए थे, तो किसी ने दो दिन पूर्व एक बाइक चाराभुजा घाटे में पड़ी होने की जानकारी मिली थी. इस पर परिजन उसकी तलाश में निकले हुए थे. शनिवार सुबह इसकी बाइक मिली तथा आस-पास जंगल में तलाश की तो मंदिर के पीछे एक पेड़ यहां उसका शव भी दिख गया. पुलिस ने कोटा से एफएसएल टीम को भी मौके पर बुला कर साक्ष्य जुटाएं है. पुलिस ने चिकित्सकों की टीम को बुला कर मौके पर ही पोस्टमार्टम कराया. परिजनों ने रिपोर्ट में हत्या की आशंका जताई है. इस पर पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

ठेका कम्पनी के तहत करता था काम: पुलिस की पूछताछ में सामने आया कि राधेश्याम मूलत: निकट ही स्थित मोहनपुरा गांव का रहने वाला है. कुछ समय से वह रावतभाटा स्थित आरएपीपी में ठेका कम्पनी के तहत चालक का काम करता था. ऐसे में राधेश्याम के सम्बंध में जानकारी जुटा रही है.

जला हुआ शव होने की जताई थी शंका: पुलिस उप अधीक्षक ने बताया कि प्रारंभिक तौर पर जो सूचना मिली थी उसमें यह जानकारी दी थी कि किसी का अधजला शव पड़ा हुआ है. लेकिन पुलिस ने मौके पर पहुंच जांच की तो सामने आया कि शव पुराना होने के कारण काला पड़ गया था, जिससे कि अधजला शव होने की आशंका जताई जा रही थी. इसके कपड़े सलामत मिले हैं. इसके शरीर पर किसी ने पेट्रोलियम पदार्थ डाला है, जिसकी जांच की जा रही है. संभवतया यह ऑयल भी हो सकता है.

जानवर खा गए थे शरीर: चारभुजा घाटे में जहां शव मिला वहां सघन जंगल है और लोगों की आवा-जाही भी नहीं के बराबर रहती है. ऐसे में जंगली जानवरों का विचरण भी काफी रहता है. राधेश्याम के शव को जंगली जानवरों ने चेहरे, हाथ सहित अन्य जगह से भी नोंच रखा था.


http://udaipurkiran.in/hindi

The post आठ दिन पूर्व लापता चालक का चारभुजा घाटे में मिला शव appeared first on DAINIK PUKAR. Dainik Pukar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*