आईओ को तथ्यात्मक रिपोर्ट के साथ कोर्ट में तलब किया

आईओ को तथ्यात्मक रिपोर्ट के साथ कोर्ट में तलब किया

जोधपुर, 14 मार्च (उदयपुर किरण). राजस्थान हाईकोर्ट ने सीआरपीसी की धारा 482 के तहत दायर एक विधिक आपराधिक याचिका की सुनवाई में याचिकाकर्ता आरोपित को गैरकानूनी ढंग से हिरासत में रखने की शिकायत पर दर्ज मामले के आईओ को मामले की अगली सुनवाई में तलब किया है, तथा राजकीय अधिवक्ता को मामले की तथ्यात्मक रिपोर्ट पेश करने व आईओ से याचिकाकर्ता का मामले में भूमिका बताने व उसकी गिरफ्तारी बाबत् पूरी जानकारी देने के निर्देश दिए गए हैं. यह आदेश जस्टिस डॉ. पुष्पेन्द्रसिंह भाटी ने याचिकाकर्ता श्यामलाल विश्नोई जाणी की ओर से दायर याचिका की सुनवाई में दिए.

याचिकाकर्ता की ओर से पैरवी करते हुए अधिवक्ता विपुल सिंघवी ने कहा कि उनके द्वारा याचिका में पेश किए गए साक्ष्यों के आधार पर पुलिस द्वारा एनडीपीएस मामले में पुलिस थाना बाप में दायर एफआईआर 60/2018 के तहत याचिकाकर्ता को महाराष्ट्र के अहमद नगर से ट्रक संख्या आरजे 07 जेबी 6896 से गिरफ्तार कर बिलाड़ा लाया गया तथा बाद में 26 अप्रेल को एक कॉनिस्टेबल प्रभुराम पुत्र उदाराम के निवास ढढू फार्म हाउस फलोदी से गिरफ्तार करना बताया गया तथा उसकी गिरफ्तारी के सम्बन्ध में स्थानीय समाचार पत्र में समाचार भी जारी किया गया था. उन्होंने कहा कि बाप पुलिस थाने के थानाधिकारी धन्नापुरी गोस्वामी व पुलिस थाना बिलाड़ा के उपनिरीक्षक सुनील चौधरी के आरोपित श्यामलाल के साथ झालावाड़ रोड़ कोटा के होटल मरूधर में खाना खाया जाने का साक्ष्य पेश किया गया है. वहीं 24 अप्रेल 2018 को कुन्हारी कोटा-बूंदी रोड़ पेट्रोल पम्प पर लगे सीसीटीवी कैमरे पर उपलब्ध फुटेज में उनकी मौजूदगी सुनिश्चित हो रही है. यहां निजी वाहन में थानाधिकारी धन्नापुरी गोस्वामी के डेबिट कार्ड से डीजल भरवाया गया तथा ये सभी 25 अप्रेल 2018 को सुबह 1.30 बजे बिलाड़ा थाना पहुंचे, यह घटनाक्रम भी सीसीटीवी कैमरों में कैद है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*