अमेरिकी वैज्ञानिकों ने रक्त कैंसर का इलाज ढूंढने का किया दावा

वाशिंगटन, 13 फरवरी (उदयपुर किरण). अमेरिकी वैज्ञानिकों ने रक्त कैंसर का इलाज ढूंढने का दावा किया है जो किसी चमत्कार से कम नहीं है. अभी तक यह बीमारी लाइलाज थी और इससे अब तक हजारों लोगों की जान जा चुकी है.

रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका में हुए एक शोध में पाया गया है कि रक्त कैंसर जैसी लाइलाज बीमारी को भी पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है. इसके इलाज में इस्‍तेमाल होने वाली यह कुदरती चीज इतनी कारगर है कि इसको खाने के बाद मात्र 48 घंटों के अंदर कैंसर के प्रभाव को कम किया जा सकता है. यही नहीं अगर इसका लगातार सेवन किया जाए तो इसे पूरी तरह से खत्‍म किया जा सकता है.

विदित हो कि रक्त कैंसर उन गंभीर बीमारियों में से एक हैं, जो किसी को हो जाए तो उससे बचाया नहीं जा सकता है. इस बीमारी का इलाज अभी भी बहुत कम जगह पर संभव है और जहां पर है भी तो इतना महंगा है कि सभी के लिए यह संभव नहीं है. कैंसर के इलाज के लिए होने वाली केमोथेरेपी भी कई बार मरीज की जान ले लेती है.

इन सब के बीच अब कैलीफोर्निया यूनिवर्सिटी में कैंसर के मरीजों पर शोध करने के बाद ये नतीजे निकले हैं कि अगर कैंसर के मरीजों को अंगूर के बीज के रस का सेवन कराया जाए तो बहुत तेजी से इसके परिणाम दिखाई देने लगते हैं.

कॉलेज के मेडिकल फिजिक्‍स एवं साइकोलॉजी के वरिष्ठ प्रोफेसर डॉ. हर्डिन बी जॉन्‍स ने बताया कि करीब 25 वर्षों तक चले शोध में सामने आया है कि अंगूर के बीज से निकलने वाला रस इस बीमारी पर बहुत तेजी से असर करता है.अंगूर के रस का प्रभाव इतनी तेजी से होता है कि करीब 48 घंटों के भीतर ही नतीजे आने शुरू हो जाते हैं.

वैज्ञानिकों ने बताया कि अंगूर के बीजों से निकला रस रक्त कैंसर सहित कई प्रकार के कैंसर के लिए काफी फायदेमंद है. अंगूर के बीज में पाया जाने वाला जेएनके प्रोटीन बिना किसी ‘साइड इफेक्‍ट’ के कैंसर कोशिकाओं को करीब 76 प्रतिशत तक जड़ से खत्‍म कर सकता है.

http://udaipurkiran.in/hindi

The post अमेरिकी वैज्ञानिकों ने रक्त कैंसर का इलाज ढूंढने का किया दावा appeared first on DAINIK PUKAR. Dainik Pukar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*