अपहरण एवं दुष्कर्म के सहयोगी दम्पति की जमानत खारिज

उदयपुर। नाबालिग का षडय़ंत्रपूर्वक अपहरण कर उसके साथ यौन शोषण के अपराध में लिप्त दम्पति की अदालत ने जमानत अर्जी को नामंजूर कर दिया।

प्रकरण के अनुसार गत 1 जनवरी को रिपोर्ट दर्ज हुई कि 28 दिसम्बर 2017 को फरियादी का पूरा परिवार खेत पर था और पीछे 19 साल की लड़की घर पर अकेली थी। उसे शंकर पिता माना मीणा, शंकरी पत्नी शंकर मीणा, कमली पत्नी भैरा मीणा एवं भैरा आए और उसे बहला-फुसला कर शादी करने की गरज से नाबालिग पुत्री को भगा कर ले गए और उसके साथ यौन शोषण किया। इस मामले में लिप्त मुख्य आरोपी के बहनोई जलेबी रूण कानोड़ निवासी भैरा पुत्र धन्ना मीणा और उसकी पत्नी कमली मीणा जो न्यायिक अभिरक्षा में चल रहे है इनकी ओर से अदालत में जमानत का प्रार्थना पत्र पेश किया। दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद यौन अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 के विशिष्ट न्यायाधीश विरेंद्र कुमार जसूजा ने मामले की गम्भीरता को देखते हुए मुख्य आरोपी शंकर के साथ पीडि़ता को अन्यत्र भगा कर ले जाने के साथ-साथ एक से अधिक बार जबरन दुष्कर्म करने का गम्भीर आरोप है। ऐसे में आरोपी दम्पति की जमानत अर्जी को नामंजूर कर दिया।

The post अपहरण एवं दुष्कर्म के सहयोगी दम्पति की जमानत खारिज appeared first on .

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*