Breaking News
Home / RELIGION (page 2)

RELIGION

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद इस तरह से हुई महाकाल की भस्मारती

उज्‍जैन। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद आज उज्जैन के महाकाल मंदिर स्थित ज्योतिर्लिंग की जो भस्मारती हुई वो कुछ अलग तरीके से की गई। आज प्रात: 4 बजे पूजा के पहले शिवलिंग को पूरी तरह सूती कपड़े से ढंका गया और इसके बाद भष्‍म आरती का अभिषेक किया गया। …

Read More »

भाई-दूज का पौराणिक महत्व और पूजा की विधि

दीपावली के त्योहार के बाद भाई-दूज का पर्व देश में सदियों से मनाया जा रहा है। इस दिन चंद्रमा वृश्चिक राशि में रहेगा और क्षितिज पर विशाखा नक्षत्र रहेगा। भाई दूज के इस त्योहार को यम द्वितीया के रूप में भी मनाते आए हैं। भाई-दूज का यह पावन पर्व भाई और …

Read More »

कार्तिकी प्रतिपदा : गोपर्व

श्रीकृष्ण ‘जुगनू’ कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा नववर्षारंभ के रूप में तो मनाई जाती है ही, यह गोपर्व भी है और गोचारण में सहायक लगुड़ या यष्टि अथवा लकुटि-लकड़ी के लिए “लगुड प्रतिपदा” के नाम से भी जानी जाती है। पराशर लिखित ‘कृषि पराशर’ में इस एक मात्र …

Read More »

गोमाता के साथ करें संस्कृति को बचाने का प्रयास

शिवशंकर सिंह चौहान भारतीय सेना में सेवानिवत्ति होने के बाद से पिछले छह साल से अब गोमाता की सेवा कर रहे है। चौहान बताते है कि एक बार वो किसी काम से जा रहे थे कि रास्ते मे उन्होंने एक गोमाता को कूड़ा कचरा कहते हुए देखा। इतना ही नहीं …

Read More »

वागड़ में अलौकिक शक्तियुक्त हैं आद्यशक्ति आराधन के नौ धाम

कमलेश शर्मा राजस्थान का दक्षिणांचल (बांसवाड़ा-डूंगरपुर जिला) वागड़ प्राचीनकाल से ही अपने शिल्प-स्थापत्य, निसर्ग और विशिष्ट परंपराओं के लिए देशभर में प्रसिद्ध रहा है। गुजरात राज्य से सटे होने के कारण वागड़ में आद्य शक्ति आराधन की परंपरा भी प्राचीनकाल से ही विद्यमान रही है। गुजरात की भांति वागड़ में …

Read More »

गणपति के अजीब रूप, गवरी सूत गणेश को देखे देशभक्ति रंग में

उदयपुर किरण। शहर में इन दिनों गणपति के अलग अलग देखने को मिल रहे है। गवरी सूत गणेश का गवरी चौक सेक्टर 13 स्थित पंडाल देशभक्ति रंग में रंगा है। गवरी चौक मित्र मंडल और वंदेमातरम मित्र ग्रुप के सौजन्य से चल रहे 10 दिवसीय गणपति महोत्सव की धूम मची …

Read More »

धर्म, कर्म, शक्ति और वैराग्य का समायोजन केवल इसी महानायक के जीवन मे ही देखने को मिला

सुनील पंडित हाथ में भाला, मोतियों से सजी लगाम और लिणण घोड़ी पर सवार वीर तेजाजी महाराज। ये फोटो देखकर अक्सर लोग बाबा रामदेवजी महाराज और इनमें फर्क नहीं कर पाते है लेकिन दरसअल ये लोकदेवता तेजाजी महाराज है। आषाढ़ और भादवे को गर्जना एवं बारिश को झमगट लगी रहती …

Read More »

महादानी करण भी इनके सामने कुछ नहीं है, लोक कल्याण के लिए इन्होंने अपनी हड्डीये तक कर दी थी दान

आज एक ऐसे महामानव का जन्मदिन है जिसने संसार के कल्याण के लिए अपने प्राणों का बलिदान दे दिया। इस महामानव का नाम दधिचि है। इनके विषय में कथा है कि एक बार वृत्रासुर नाम का एक राक्षस देवलोक पर आक्रमण कर दिया।देवताओं ने देवलोक की रक्षा के लिए वृत्रासुर …

Read More »

जानिये भगवान का भोग 56 ही क्यों होता है, 57 क्यों नहीं

ऐसा कोई धार्मिक आयोजन नहीं देखा या सुना होगा जहां भगवान के 56 भोग का जिक्र नहीं होता हो। 56 भोग आरोगने के बाद तो ठाकुरजी एक्टिव मोड़ पर जल्दी से आ जाते है और इसके बाद जो मांगो वो फटाक से 2 मिनट में दे डालते है। भगतों के …

Read More »