रेलवे इंजीनियर को पांच साल की सजा

जयपुर, 06 नवम्‍बर (उदयपुर किरण). सीबीआई मामलों की विशेष अदालत क्रम-2 ने रेलवे ठेकेदार से रिश्वत लेने वाले तत्कालीन इंजीनियर धर्मसिंह मीणा को पांच साल की सजा सुनाई है. इसके साथ ही अदालत ने अभियुक्त पर बीस हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है. वहीं अदालत ने झूठा बयान देने वाले मामले के परिवादी दीपक शर्मा के खिलाफ प्रसंज्ञान लेकर नोटिस जारी किए हैं.
सीबीआई की ओर से अदालत को बताया गया कि रेलवे ठेका फर्म के निरीक्षक दीपक शर्मा ने सीबीआई में रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि फर्म रेलवे के सिविल कामों का ठेका लेती है. एक मई 2014 को मशीनरी लाते समय अजमेर के गहलोता स्टेशन के पास केबल क्षतिग्रस्त हो गई. केबल दुरुस्त होने के बाद वहां तैनात अभियुक्त धर्मसिंह ने तीस हजार रुपए मांगे. इस पर परिवादी ने चार हजार रुपए दे दिए. इस पर अभियुक्त ने शेष राशि नहीं देने पर आरपीएफ में मामला दर्ज कराने की धमकी दी. इस पर परिवादी की ओर से सीबीआई में शिकायत दर्ज कराई गई. जिस पर कार्रवाई करते हुए सीबीआई ने अभियुक्त को गिरफ्तार कर अदालत में आरोप पत्र पेश किया.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*