सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम : 15 लाख तक कर सकते हैं निवेश, हर तीसरे माह पाएं ब्याज

नौकरी से रिटायर होने वाले लगभग सभी लोग निवेश की योजना बनाते हैं, ताकि रिटायरमेंट के बाद उन्हें आर्थिक परेशानी का सामना न करना पड़े. सेवानिवृत्ति के बाद पीएफ, ग्रेच्युटी, अवकाश नकदीकरण के रूप में आपको एकमुश्त राशि मिलती है. आपकी नियमित आय भी बंद हो जाती है, इसलिए आप निवेश का ऐसा विकल्प चुनते हैं, जहां जोखिम न हो और समय-समय पर आमदनी होती रहे. ऐसे में सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (एससीएसएस) एक अच्छा विकल्प हो सकती है. इस स्कीम का खाता डाकघर और राष्ट्रीयकृत बैंकों में खुलवाया जा सकता है. योजना में 60 साल की आयु के बाद निवेश कर सकते हैं. ब्याज की गणना हर तिमाही में की जाती है. ब्याज की रकम खाताधारक के बैंक खाते में 1 अप्रैल, 1 जुलाई, 1 अक्टूबर और 1 जनवरी को डाल दी जाती है. आप राष्ट्रीयकृत बैंक या पोस्ट ऑफिस में इसका खाता खोलना चाहते हैं तो वहां आपका सेविंग अकाउंट होना चाहिए. इसमें किसी भी वर्ग और समुदाय का व्यक्ति शामिल हो सकता है.

योजना को यूं समझ सकते हैं

निवेश की शुरुआत 1000 रुपए से कर सकते हैं. आगे 1000 रुपए के गुणांक में इसे बढ़ा सकते हैं, अधिकतम 15 लाख रुपए निवेश कर सकते हैं. इस खाते की मैच्योरिटी अवधि पांच वर्ष है. आप चाहें तो इसे और तीन वर्ष के लिए बढ़ा सकते हैं, उसके बाद नहीं. यह खाता व्यक्तिगत या पति-पत्नी के साथ संयुक्त रूप से भी खोला जा सकता है.

इन दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी

  • आवेदक के पासपोर्ट साइज के दो फोटो के साथ केवाईसी फॉर्म भरना होगा.
  • पैन कार्ड, आधार कार्ड के साथ एड्रेस प्रूफ देना होगा.
  • रिटायर व्यक्ति को अपने एम्प्लॉयर (जहां उसने नौकरी की है) से मिला सर्टिफिकेट भी देना होगा. इसमें व्यक्ति के पद, कब से कब तक नौकरी की तथा मिलने वाले रिटायरमेंट बेनेफिट की जानकारी भी देनी होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*