वोटों का विभाजन टालने के लिए MNS को हमारे साथ आना चाहिए: NCP नेता

मुंबई,महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) को लेकर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) की रवैया इन बातों को सच साबित करता दिख रहा है. एनसीपी के नेता अजित पवार ने सार्वजनिक रूप से अपील की है कि वोटों का विभाजन टालने के लिए MNS को हमारे साथ आना चाहिए. जूनियर पवार ने इसे व्यक्तिगत राय कहा है, लेकिन उनके इस बयान को महाराष्ट्र की राजनीति में काफी गंभीरता से लिया जा रहा है.
अजित पवार ने कहा, लोकसभा में बीजेपी-शिवसेना को हराना है, तो धर्मनिरपेक्ष विचारधारा स्वीकार कर सभी को एकसाथ आना चाहिए. MNS को भी पिछली बार एक लाख वोट मिले थे. इसीलिए मेरी व्यक्तिगत राय यह है कि पिछली बातों को भुलाकर वोटों का बंटवारा टालने के लिए सभी को एकजुट हो जाना चाहिए. अब सवाल यह है कि अजित पवार ने यह अपील किससे की है- एमएनएस से या कांग्रेस से! क्योंकि एमएनएस, तो पहले से ही महागठबंधन का हिस्सा बनने को तैयार है, बस कांग्रेस ही है, जो एमएनएस और एमआईएम जैसे कट्टर विचारधारा वाले दलों को महागठबंधन में किसी भी कीमत पर शामिल न करने का ऐलान कर चुकी है.
कांग्रेस के विरोध के कारण ही एनसीपी प्रमुख शरद पवार को न चाहते हुए भी सोमवार को एमएनएस को ‘ना’ बोलना पड़ा. शरद पवार के बयान के बाद लग रहा था कि महागठबंधन में एमएनएस की एंट्री का चैप्टर खत्म हो गया है, लेकिन दूसरे ही दिन अजित पवार ने अपने चाचा और पार्टी प्रमुख शरद पवार के बयान से अलग नया बयान देकर बंद चैप्टर को फिर से खोल दिया है.

The post वोटों का विभाजन टालने के लिए MNS को हमारे साथ आना चाहिए: NCP नेता appeared first on DAINIK PUKAR. Dainik Pukar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*